ANUV Jain Gul lyrics meaning

ANUV Jain Gul lyrics meaningANUV Jain Gul lyrics meaning

ANUV Jain Gul lyrics meaningANUV Jain Gul lyrics meaning


ANUV Jain Gul lyrics meaning

Gul गुल lyrics by Anuv Jain is a Hindi song composed by Angad Singh Bahra while penned by Anuv Jain. Music video directed by Arsh Grewal starring Medha Rana having music label Anuv Jain.

Song Title: GUL
Performer(s): Anuv Jain
Lyrics Writer(s): Anuv Jain
Composer(s): Anuv Jain
Director: Anuv Jain

ANUV Jain Gul lyrics meaning

Na Dastakein Yeh Tere Dil Ki,
Han Wahi Dhadkane Hain,

Yun Jor Se Jo Tujhko Ab Sun Rahin Hain,
Sun Le Zara Yeh Tujhse Kya Keh Rahin Hain,

Aye Nahijinke The Wadein,
Waqt Uljha Hua Haitere Yahan Pe,
Kya Who Kal The Yahan Yan Hafton Pehle,

Ki Yeh Hain Dastan,
Aye Na Teri Yad Unko,

Toote Makan Ik Bar Gir Kar,
Waise Bante Kahan Hai,

Jaise The Tune Apne Dil Se Banaye,
Oh Karigar Yun Hathon Se The Sajaye,
Aye Na Teri Yad Unko,

Kitabon Ke Ghar,
Duniya Hain Teri,
In Dhool Bhare,
Pano Mein,
Tu Kya Dhoondti,

Aur Kya Ho Gaya Jo Tujhe,
Is Dafa Na Mili Pyari Si,
Pariyon Ki Woh Kahani,

Aur Tum Yun Pareshan Ho Kyon,
Hain Jadugari Aaj Bhi,
Tere Dil Mein Hain Baki,
Aur In Kagazon Mein Kahin,

Ek Gul Hain Jo Aise Tera,
Intezar Kar Raha Hain,
Yeh Gul Hai Teri Woh Hansi,

Kahan Kho Gai,
Yeh Bata Khilegi Kabhi,

Aayega Ik Din,
Jab Unki Ratein,
Yun Na Mehfooz Hongi,

Tere Tere Bin Aise Tu Dekh Lena,
Teri Kami Tab Unko Mehsoos Hogi,
Mujhe Mujhe Hain Pata,


Gul Song Lyrics in Hindi

ना दस्तकें ये तेरे दिल की
हाँ वही धड़कने है
यूँ जोर से जो
तुझको अब सुन रहीं है
सुन ले ज़रा ये
तुझसे क्या कह रहीं है
आये नहीं
जिनके थे वादे
वक़्त उलझा हुआ है
तेरे यहाँ पे
क्या वो कल थे यहाँ
या हफ़्तों पहले
की ये है दास्तान
आये ना तेरी याद उनको
आये ना तेरी याद उनको
टूटे मकान
इक बार गिरकर
वैसे बाँटे कहाँ हैं
जैसे थे तूने
अपने दिल से बनाये
वो कारीगर यूँ
हाथों से थे सजाये
आये ना तेरी याद उनको
आये ना तेरी याद उनको
किताबों के घर
दुनिया है तेरी
इन धूल भरे
पन्नो में
तू क्या ढूंढ़ती
और क्या हो गया जो तुझे
इस दफा ना मिली प्यारी सी
परियों की वो कहानी
और तुम यूँ
परेशान हो क्यूँ
है जादूगरी आज भी
तेरे दिल में है बाकी
और इन कागज़ों में कहीं
एक गुल है जो ऐसे तेरा
इंतज़ार कर रहा है
ये गुल है तेरी वो हंसी
कहाँ खो गयी
ये बता खिलेगी कभी
आएगा इक दिन
जब उनकी रातें
यूँ ना मेहफ़ूज़ होंगी
तेरे तेरे बिन
ऐसे तू देख लेना
तेरी कमी तब
उनको महसूस होगी
मुझे मुझे है पता ये

No Comments, Be The First!

Your email address will not be published.